जीवन में संतुष्ट रहना है तो Osho की 10 बातें हमेंशा याद रखें Osho Quotes in hindi with Images

जीवन में संतुष्ट रहना है तो Osho की 10 बातें हमेंशा याद रखें-Osho in Hindi

Life Changing Videos in Hindi

Rajneesh Osho (रजनीश ओशो)

Born 11 December 1931, एक भारतीय आध्यात्मिक गुरु और स्वयं को ईश्वर घोषित करने वाले तथा रजनीश आंदोलन के नेता थे। अपने जीवनकाल में इन्हें रहस्यवादी, गुरु और आध्यात्मिक गुरु के विभिन्न विवादास्पद रूपों में देखा गया।

साठ के दशक में, उन्होंने भारत का भ्रमण किया और एक वक्ता के रूप में समाजवाद, गांधी, और हिन्दू रूढ़िवाद के प्रखर आलोचक रहे। मानव कामुकता के प्रति उनके खुले विचारों के कारण उन्हें भारतीय, और बाद में, अंतर्राष्ट्रीय प्रेस में एक “सेक्स गुरु” के रूप में देखा गया, हालाँकि, समय के साथ उनके दृष्टिकोण को बेहतर स्वीकृति मिली।

Rajneesh osho (के  महान कथन) Famous thoughts in hindi are Below;

  1. यदि तुम अप्रसन्न हो तो इसका सरल सा अर्थ यह है कि तुम अप्रसन्नय होने की तरकीब सीख गए हो। और कुछ नहीं।
  2. दुख पर ध्यान दोगे तो हमेशा दुखी रहोगे। सुख पर ध्या न देना शुरू करो, दरअसल तुम जिस पर ध्यान देते हो वह चीज़ सक्रिय हो जाती है।
  3. जो कल हो चुका, उससे सीखें और पार जायें, दुहरायें नहीं। जहाँ से गुजर गए वहां से गुजर ही जाएँ, उसको पकड़े नही।
  4. जो भी किया जा सकता है, उसी वक़्त किया जा सकता है। जिसे आप कल पर छोड़ रहे हैं, जान लें, आप करना नहीं चाहते हैं।
  5. मैं आपको कहीं और ध्यान ले जाने को नहीं कह रहा हूँ। आप जो कर रहे हैं उसको ही ध्या्न बना लें। इससे आपके किसी काम मे बाधा नहीं पड़ेगी, बल्कि सहयोग बनेगा।
  6. अर्थ मनुष्य़ द्वारा बनाये गए हैं। चूँकि आप लगातार अर्थ जानने में लगे रहते हैं, इसलिए आप अर्थहीन महसूस करने लगते हैं।
  7. असली सवाल यह है की भीतर तुम क्याए हो? अगर भीतर गलत हो, तो तुम जो भी करोगे, उससे गलत फलित होगा, अगर तुम भीतर सही हो, तो तुम जो भी करोगे, वह सही फलित होगा।
  8. मनुष्य को अपना विकास करके ईश्वकर नहीं होना है। मेरी दृष्टि में अगर वो अपने आप को पूरी तरह जान ले तो वो अभी और इसी वक्त ईश्वर है। स्वयं का सम्पूहर्ण आविष्कार ही एकमात्र विकास है।
  9. कोई आदमी चाहे लाखों चीजें जान ले, पूरे जगत को जान ले। लेकिन अगर वह स्वयं को नहीं जानता है तो वह अज्ञानी है।
  10. किसी से किसी भी तरह की प्रतिस्पहर्धा की आवश्यकता नहीं है। आप स्वयं में जैसे हैं एकदम सही हैं। खुद को स्वी्कारिये।
Share this with your Friends:

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
800
wpDiscuz